इमरान मसूद ने PM पर साधा निशाना, कहा देश की अर्थव्यवस्था का पीएम ज़िम्मेदार

तीन वर्षों से गन्ना मूल्य नही बढ़ाया, धान की भी नहीं हो रही है खरीद

सहारनपुर। मंगलवार को कांग्रेस नेता इमनान मसूद ने आगामी 10 दिनों के कांग्रेस के कार्यक्रमो की घोषणा करते हुए कहा कि देश को खडा करने में और संस्थाओं को खड़ा करने में जो वक्त लगा है। उन्होंने कहा कि देश के अन्न डेटा की कमर तोड़ दी गयी है, डी ए पी का रेट जो 2016 में 600 रुपये था और अब वज़न घटाकर 45 किलो किया गया है तथा रेत भी 1400 रुपये हो गया है। गन्ने का भाव पिछले 3 सालों में एक रुपया भी नही बढा है। धान की अब तक शुरुआत नही की गई है जो किसान हरियाणा अपना धान बेचने जा रहे है उन्हें हरियाणा में घुसने नही दिया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि सहारनपुर के ही गणना किसानों का 600 करोड़ रुपया बाकी है, गन्ने की खरीद शुरू नही होने के कारण गणना किसान अपना गन्ना कोल्हुओं पर 180 रुपये कुंतल बेचने को मजबूर है। इतना ही नहीं धान के किसानों का बुरा हाल है, धान के दाम आधे से भी कम हो गए जबकि लागत बढ़ी है और चावल के दाम आसमान छू रहे है। गणना किसानों की लागत बढ़ी लेकिन रेट नही और चीनी पिछले 3 साल में 10 रुपये प्रति किलो बढ़ गयी है। उनका कहना था कि संगठित क्षेत्र में 90 लाख नोकरिया चली गयी और असंगठित क्षेत्र में युवको के बेरोज़गार होने की संख्या करोड़ो में है। सरकारी संस्थाओं को नीलाम किया जा रहा है।

इमरान मसूद ने कहा कि नेहरू जी ने जो सपना 72 साल पहले किसानों को न केवल आत्म निर्भर बनाने का देखा था, बल्कि निर्यात करके उन्हें आर्थिक रूप से मज़बूत बनाना था उन्हें खत्म किया जा रहा है। किसान अपने बच्चों को बड़ी मुश्किल से पढ़ा रहा है उन्हें पकोड़े टालने को कहा जा रहा है। उनका कहना था कि बैंकों की हालत भी किसी से छिपी नही है। आगामी 10 दिनों तक कांग्रेस जनता के लिए संघर्ष करेगी। इमरान मसूद ने कहा कि कांग्रेस के दबाव में ही आर सी पी ए पर हस्ताक्षर नही किये है।

उन्होंने कहा कि देश को मंदिर मस्जिद के नाम पर उलझ कर मुद्दों से मुंह छिपाया जा रहा है। एक प्रश्न के उत्तर में इमरान मसूद ने कहा कि मंदिर मस्जिद पर हाईप तैयार की जा रही है और अधिकारी सरकार के ही कार्यक्रमो को आगे बढ़ा रहे हैं। पत्रकार वार्ता में विधायक मसूद अख्तर, नरेश सैनी जिलाध्यक्ष शशि वालिया, कार्यवाहक अध्यक्ष जावेद सबरी, शायण मसूद, इमरान कुरेशी, संजीव कौशल, नसीब खान, संजय वालिया, शिव कुमार सैनी, ज़िला प्रवक्ता गणेश दत्त शर्मा आदि प्रमुख रूप से शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *