लॉकडाउन में कैसे वक्त बिता रहीं सोनाक्षी सिन्हा? 33वें बर्थडे पर पिता शत्रुघ्न सिन्हा ने खास बातचीत में दिया जवाब

0

दैनिक भास्कर

Jun 02, 2020, 03:09 PM IST

मुंबई (उमेश कुमार उपाध्याय). सोनाक्षी सिन्हा 33 साल की हो गई हैं। 2 जून 1987 को उनका जन्म मुंबई में हुआ था। सोनाक्षी के जन्मदिन पर उनके पिता शत्रुघ्न सिन्हा ने उन्हें लेकर दैनिक भास्कर से खास बातचीत की। इस बातचीत के मुख्य अंश:- 

सवाल: लॉकडाउन में सोनाक्षी क्या कर रही हैं?
जवाब: सोनाक्षी को गाने और पेंटिंग का बहुत शौक है। घर में वह गाने का अभ्यास करती है। बहुत अच्छी पेंटिंग बना रही है। कई बार मुझे लगता है कि उनके अंदर राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय पेंटर बनने की क्षमता है। घर में रहकर भी एक्सरसाइज करती रहती है। 
मेरा सौभाग्य है कि खाना बनाने के मामले में पत्नी पूनम वर्ल्ड की बेस्ट शेफ में से एक हैं। बंगाली, बिहारी, मराठी, चाइनीज, इटेलियन हर तरह का खाना वे बहुत स्वादिष्ट बनाती हैं। इस बात का अचरज जरूर होता है कि हमारे बच्चे लव, कुश और सोनाक्षी को खाना बनाने का जरा-सा भी शौक नहीं है। 
सोनाक्षी हेल्दी और डाइट फूड पर ज्यादा जोर देती है। लेकिन जब भी आउटडोर शूट से आती है तो खासकर मां के हाथ के खाने को प्राथमिकता देती है। मैंने सोनाक्षी से कहा कि इस लॉकडाउन में थोड़ा खाना बनाना सीख लो, शायद शादी के बाद काम आ जाए। इस पर वह जिस अंदाज से मुस्कुराकर मेरी तरफ देखी, उसका मतलब यही था कि वह क्यों खाना बनाएगी, उसका पति बनाएगा। 

सवाल: बेटी को दिया कोई यादगार गिफ्ट?
जवाब: हर बार भर-भरकर गिफ्ट देता था। मुझे याद है एक बार सऊदी अरब गया था। वहां से तीन पहियों वाली साइकिल लेकर आया था। उस समय सोनाक्षी बहुत छोटी थी। वह साइकिल महंगी से ज्यादा इनोवेटिव थी। तब तक शायद हिंदुस्तान में नहीं आई थी। मैंने इसे सऊदी में देखा तो ले आया। इसी तरह एक बार अमेरिका गया था तो वहां से उसके पसंद का डॉगी लाया था। 

सवाल: सोनाक्षी की बॉलीवुड एंट्री पर पहला रिएक्शन क्या था? 
जवाब: देखिए! मैंने नारी सशक्तिकरण का हमेशा ध्यान रखा है। मेरा सिंपल सा लॉजिक है कि अगर बेटे काम कर सकते हैं तो बेटी क्यों नहीं कर सकती। कई लोग कहते हैं कि बेटी को नहीं जाना चाहिए। मैं कहता हूं कि बेटी को क्यों नहीं जाना चाहिए। सब कुछ आपके ऊपर निर्भर करता है। आपके अपने चरित्र, संकल्प पर डिपेंड करता है। लोग मंदिर और चर्च में रहकर भी बिगड़ सकते हैं और कारागृह में रहकर सुधर जाते हैं। 

सोनाक्षी मेरे पुण्य कर्मो का फल है। हमारे जुड़वा बेटे थे, लेकिन परिवार में बड़ी ख्वाहिश थी कि बेटी हो, नहीं तो परिवार अधूरा रहेगा। मेरे घर का नाम रामायण है। इसलिए बेटों नाम लव और कुश रखा। चूंकि रामायण में लव, कुश की कोई बहन नहीं थी, इसलिए बेटी का नाम सोनाक्षी रखा, जो मेरे और पत्नी के नाम से मिलता-जुलता है। यह पार्वती का भी एक नाम है।

सवाल: आपने बॉलीवुड में लंबा वक्त गुजारा। अनुभव के आधार पर बेटी को क्या टिप्स दी?
जवाब: बच्चे बड़े समझदार हैं। जो मंत्र बच्चों को दिया, वही बात बाकी युवा पीढ़ी से कहता हूं कि अपने काम में खुद को सबसे बेहतर साबित नहीं कर सकते तो सबसे अलग साबित करके दिखाओ। 
मैंने सोनाक्षी से कहा कि अपने पिता को देखो। मैं यह नहीं कहूंगा कि मैंने सबसे बेहतर साबित करके दिखाया है। लेकिन अपने आपको सबसे अलग साबित करके जरूर दिखाया है। शायद यही वजह है कि दुनियाभर के लोग शत्रुघ्न सिन्हा की नकल करते देखे जाते हैं।  

सवाल: पर्दे पर किस एक्टर के साथ उनकी जोड़ी आपको पसंद आती है?
जवाब: मैंने सोनाक्षी की जो फिल्में देखी हैं, उनमें से लुटेरा में उनका वर्ल्ड क्लास परफॉर्मेंस था। सोनाक्षी की खासियत उसका आत्मविश्वास है। लोग कहते भी हैं कि सोनाक्षी के अंदर कॉन्फिडेंस उनके पिता का है और ब्यूटी मां की है। 
ह्यूमर के साथ-साथ उसे हाजिर जवाबी भी बहुत अच्छी मिली है। ‘लुटेरा’ में रणवीर सिंह के साथ वह अच्छी लगी थी। हालांकि, उसने बड़े अच्छे-अच्छे स्टार्स के साथ काम किया है। सलमान खान फैमिली फ्रेंड हैं। अक्षय कुमार काफी करीब हैं।