रवीना टंडन ने इंस्टाग्राम पर #आत्मनिर्भर फोटोशूट शेयर किया, लोगों से ‘निसर्ग’ के लिए तैयार रहने को कहा

0

दैनिक भास्कर

Jun 02, 2020, 09:52 PM IST

मुंबई. एक्ट्रेस रवीना टंडन ने मंगलवार को अपना एक सेल्फी कलेक्शन सोशल मीडिया पर शेयर करते हुए उसे ‘आत्मनिर्भर’ फोटोशूट नाम दिया। इसके साथ ही अपनी पोस्ट के जरिए उन्होंने लोगों से जल्द ही मुंबई में आने वाले ‘निसर्ग’ तूफान के लिए तैयार रहने को कहा। रवीना ने जो फोटोज शेयर किए उनमें वे आईने के सामने डेनिम शर्ट और शॉर्ट्स पहने पोज देती दिखाई दे रही हैं।

अपनी पोस्ट में रवीना ने लिखा, ‘#आत्मनिर्भर फोटोशूट, बादलों भरा दिन, डेनिम्स बाहर निकल गई हैं, निसर्ग तूफान का इंतजार… चेकलिस्ट- इमरजेंसी बैटरी लाइट्स को चार्ज करके तैयार रखें, आसपास की नालियों को साफ करें… अपने फोन में एक अच्छी फिल्म डाउनलोड कर लें, खाने के छोटे-मोटे सामान तैयार रखें।’

बताई मुंबईकरों की खास आदत

आगे उन्होंने लिखा, ‘उम्मीद है ये बिना किसी घटना के गुजर जाएगा। उम्मीद है कि सभी सुरक्षित और सूखे रहेंगे। उम्मीद है किसी तरह का विनाश नहीं होगा… हम मुंबईकर जरूरत के वक्त हमेशा कूदने और मदद करने के लिए तैयार रहते हैं, लेकिन मैं प्रार्थना करती हूं कि उसकी जरूरत ही ना पड़े और सभी सुरक्षित रहें।’

महाराष्ट्र के तटीय इलाकों से टकराएगा ‘निसर्ग’

बता दें कि अरब सागर से उठा चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ महाराष्ट्र और गुजरात के तट से टकराने के लिए तैयार है। इसको देखते हुए मुंबई के अलावा महाराष्ट्र के तटीय इलाकों में अलर्ट जारी किया गया है। ‘अम्फान’ के बाद आए इस चक्रवाती तूफान को ‘निसर्ग’ नाम बांग्लादेश ने दिया है। इस शब्द का मतलब ब्रह्माण्ड होता है।

सोनाली बेंद्रे के साथ यादों को ताजा किया था

इससे पिछली पोस्ट में रवीना ने सोनाली बेंद्रे के साथ अपना एक फोटो और फिल्म ‘कीमत’ का पोस्टर शेयर कर, कुछ यादों को ताजा किया था। अपनी पोस्ट में उन्होंने लिखा था, ‘तब और अब की एक तस्वीर। सोनाली बेंद्रे और मैं ‘कीमत’ के पोस्ट में रॉक कर रहे हैं और अब हम एक अलग कार्यक्रम में मुस्कुरा रहे हैं… फिल्म और गीतों की शूटिंग में बिताए मजेदार समय की प्यारी यादें! हे भगवान! विशेष रूप से- ‘ओ मेरे छैला’ गाना तो कार्डियो वर्कआउट की तरह था।’

कश्मीरी पंडितों को ‘जेठ आठम’ की बधाई दी थी

इससे पहले 30 मई को उन्होंने कश्मीरी पंडितों को ज्येष्ठ अष्टमी की बधाई दी थी। उन्होंने लिखा था, ‘जेठ आठम’ खीर भवानी मंदिर में कश्मीरी पंडितों द्वारा मनाए जाने वाले सबसे बड़े त्योहारों में से एक है। ‘जेठ आठम’ मुबारक हो मेरे कश्मीरी पंडित भाइयों।’