Chandrayaan 2 चांद से 109 किलोमीटर दूर,आज ऑर्बिटर से अलग होगा लैंडर विक्रम

Chandrayaan 2 हर रोज धीरे-धीरे से नया इतिहास रचते जा रहा हैं, इसी वजह से लगभग सभी देशों की निगाहे चंद्रयान 2 पर लगी हुई है। भारतीय एजेंसी इसरो (ISRO) आज 2 सितंबर को चंद्रयान 2 के ऑर्बिटर से लैंडर (Vikram) को अलग करने जा रहा है। दोपहर 12 बजकर 45 मिनट से एक बजकर 45 मिनट के बीच इस प्रक्रिया अंजाम दिया जाएगा। विक्रम लैंडर 7 सितंबर को तड़के डेढ़ बजे से ढाई बजे के बीच चंद्रमा की सतह पर सोफ्ट लैंड कर जाएगा।

बता दें कि बीते 22 जुलाई 2019 को दोपहर 2 बजकर 43 मिनट पर भारत का महत्वाकांक्षी चंद्रयान-2 लॉन्च किया गया था। जिसके बाद चंद्रयान 2 धीरे धीरे से पड़ाव पूरे करता जा रहा है। इसी के चलते रविवार को चंद्रयान 2 एक और पड़ाव पार कर लिया। शाम छह बजकर 21 मिनट पर भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के वैज्ञानिकों ने चंद्रयान की कक्षा में बदलाव किया। आपकों बता दे कि चंद्रगयान 2 को चांद की कक्षा में पहुंचने के बाद से यान में यह पांचवां अंतिम बदलाव था। अब चंद्रयान 2 अब चांद से 109 किलोमीटर दूर रह गया है जो 7 सितंबर को चंद्रमा पर लैंडिंग करेगा।

इस बारे में जानकारी देते हुए भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन इसरो के चेयरमैन के. सिवन ने दी जानकारी के मुताबिक दो सितंबर को होने वाला लैंडर सेपरेशन काफी तेज होगा। यह उतनी तेज होगा जितनी गति से कोई सेटेलाइट लॉन्‍चर रॉकेट से अलग होता है। इसरो के वैज्ञानिक इंटिग्रेटेड स्पेसक्राफ्ट को अलग करने के लिए इसे धरती से कमांड देंगे, फिर ऑनबोर्ड सिस्टम इसे एग्जिक्यूट करेगा। इसके बाद आज से ही विक्रम लैंडर चांद की ओर बढ़ना शुरू करेगा, इसरो वैज्ञानिकों के मुताबिक आगामी 07 सितंबर को लैंडर विक्रम चांद के साउथ पोल पर लैंड करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *